एवोकाडो से होने वाले फायदे, उपयोग और नुकसान

एवोकाडो एक ऐसा फल है जिसे पुरे दुनिया मे सबसे ज्यादा खाया जाता है, ऐसा कहा जाता है कि इसका स्वाद काफी हद तक बटर जैसा होता है इसलिए लोग इसे बटर फ्रुट भी कहते है। इसका सेवन करने का तरीका अलग-अलग है, जैसे मे स्मुथी या ब्रेड टोस्ट या फिर आईसक्रिम के साथ। एवोकाडो किसी सुपरफुड से कम नही है क्योकि इसमे शुगर कि मात्रा बिलकुल नही होती है, एवोकाडो हाई-फैटी एसिड कि मात्रा पायी जाती है।

आज इस आर्टिकल मे आप जानेंगे एवोकाडो के बारे मे कि एवोकाडो क्या है, एवोकाडो के फायदे, एवोकाडो मे पाये जाने वाले पौष्टिक तत्व और एवोकाडो के नुकसान।

एवोकाडो क्या है

जैसा कि हमने कुछ हद तक एवोकाडो के बारे मे उपर बता दिया है, एवोकाडो का वैज्ञानिक नाम पर्सिया अमरीकाना है। ऐसा माना जाता रहा है कि इस फल को करीब 7000 साल पहले दक्षिणी मैक्सिको और कोलंबिया मे खोजा गया था और इसके आकार के अनुसार इस फल एलीगेटर पियर्स नाम दिया गया था। दुनिया भर मे इस फल के अलग-अलग किस्म मिल जाते है लेकिन हास एवोकाडो एक खास प्रकार का है और इसमे पौष्टिक तत्व काफी ज्यादा मात्रा मे मिलता है। इसलिए पुरे दुनिया मे इस फल कि मांग है और पुरे दुनिया मे इसकि खेती होती है।

एवोकाडो के फायदे

हृदय स्वास्थ्य 

एवोकाडो का सेवन स्वाश्थय के लिए बेहतर माना जाता है, एक रिपोर्ट के अनुसार एवोकाडो मे शरीर मे एचडीएल कोलेस्ट्रॉल बढाने का काम करता है। जो हमारे ह्रदय के लिए बेहतर माना जाता है, एक अन्य रिपोर्ट कि माने तो एवोकाडो एलडीएल कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम करता है जिससे ह्रदय को रोग मुकित रखा जा सकता है और ये ह्रदय के समय सीमा को बढाता है।

पाचन स्वास्थ्य

एवोकाडो किसी आर्युवेदिक दवा से कम नही है, इसका सेवन आपके पेट और पाचन तंत्र दोनो को सही रखता है। इसमे फाइबर और पोटौशियम जैसे गुण अधिक मात्रा मे होता है जो एक स्वस्थ पाचन के लिए जाना जाता है।

वजन कम करने के लिए

अध्ययन से पता चला है कि एवोकाडो का सेवन करने वाले लोगो वजन और बीएमआई नियंत्रित रहता है और ये मेटाबॉलिक सिंड्रोम के दिक्कतो को दुर रखता है। एवोकाडो के सेवन से वजन ना बढने का कारण है, एवोकाडो मे मोनोअनसैचुरेटेड फैटी एसिड और फाइबर तत्व जैसे गुणो का होना जो आपके वजन को बढने नही देता है।

कैंसर के लिए

कैंसर जैसी दिक्कतो से भी निजात पाने के लिए आप एवोकाडो का सेवन कर सकते है, इसमे कैंसर जैसी दिक्कत से निजात दिलाने कि शक्ति होती है। एवोकाडो मे एवोकैटिन-बी नामक तत्व पाया जाता है, जो ल्यूकेमिया स्टेम कोशिकाओं से लड़ने का काम करता है। एक अध्ययन से पता चला है कि एवोकाडो प्रोस्टेट कैंसर कोशिकाओं के विकसित होने रोकता है।

ओरल स्वास्थ्य

मुंह के दिक्कतो के लिए भी एवोकाडो का सेवन फायदेमंद साबित होता है, एवोकाडो मे फैटी एसिड, विटामिन-डी और फाइबर गुण पाये जाते है। जो मुंह मे होने वाले मसुडो के सुजन या फिर दांतो के दर्द जैसे दिक्कतो से निजात पा सकता है।

हड्डियों की मजबूती के लिए

एवोकाडो का सेवन हमारे शरीर के हड्डीयों को मजबुत करने के लिए जाना जाता है, कच्चे एवोकाडो मे बोरॉन मिनरल पाया जाता है जो शरीर के अंदर कैल्शियम के अवशोषण को बढाकर हड्डीयों को लाभ पहुंचाता है। इस फल मे विटामिन-के भी पाया जाता है जो हड्डीयों को बेहतर रखने मे मददगार साबित होता है।

लिवर स्वास्थ्य

अगर आपको लिवर संबंधी बिमारी है तो आपके लिए एवोकाडो सेवन करना बेहतर हो सकता है, एवोकाडो मे फाइबर जैसे समृध्द गुण होते है जो हमारे लिवर को स्वस्थ रखने मे मदद करते है।

किडनी स्वास्थ्य

 

एवोकाडो का सेवन हमारे शरीर के लिए और हमारे किडनी के लिए फायदेमंद होता है, इसमे पोटौशियम गुण होते है जो किडनी को जो जोखिम से दुर रखता है। एक रिपोर्ट कि माने तो क्रोनिक किडनी रोग उच्च रक्तचाप और स्ट्रोक जैसे दिक्कतो के लिए जिम्मेदार है और पोटैशियम इन चिजो को कम करने के लिए जाना जाता है।

  1. मधुमेह के लिए

अगर अध्ययन कि माने तो पता चलता है कि फाइबर भी अहम भुमिका निभाती है, मधुमेह रोगीयों मे तेजी से रक्त शर्करा के स्तर को कम करने के लिए। इसमे   मोनोअनसैचुरेटेड वसा अधिक मात्रा मे होती है जिससे मधुमेह जैसी दिक्कतो से निजात पा सकती है।

  1. दिमागी विकास

एवोकाडो मे मोनोअनसैचुरेटेड वसा दिमारी विकास के लिए जाना जाता है, साथ इस फल मे विटामिन-ई के गुण भी पाये जाते है जो मस्तिष्क के कार्य क्षमता को बढाती है। अध्ययन कि माने तो विटामिन-ई अल्जाइमर जैसे रोग के खिलाफ एंटिऑक्सीडेंट सपरक्षा प्रदान करता है।

एवोकाडो के पौष्टिक तत्व

एवोकाडो इति सारे रोगो से हमारे शरीर को बचने मे मदद करता है तो बिलकुल है कि इसमे पौष्टिक गुण काफि ज्यादा होगें।

पानी

उर्जा

प्रोटिन

फैट

ऐश

कार्बोहाइड्रेट

फाइबर

कैल्शीयम

आयरन

मैग्निशीयम

फास्फोरस

कॉपर

जिंक

मैंगनिज

विटामिन-सी

एवोकाडो का उपयोग

हर एक चिजो को खाने का तरीका होता है, अगर उस चिजो को सही मात्रा मे खाया जाये तो बेहतर वरना आपके लिए नुकसानदहे हो सकता है। इसके लिए आप इसे स्मूदी, ब्रेड टोस्ट, सूप या फिर अन्य डिजर्ट मे डालकर कर सकते है।

आप सुबह नाश्ते मे ब्रेड ऑम्लेट के साथ एवोकाडो मिलाकर खा सकते है, इससे स्वादिष्ट भी लगेगा।

आमतौर पर लोगो को फ्रूट सलाद खाना पसंद होता है ऐसे में एवोकाडो को फ्रूट सलाद जोड़ सकते है।

अगर आप खाना पकाना अच्छा लगता है या फिर खाना पकाना आता है तो आप एवोकाडो के फ्रेंच फ्राइज बनाकर भी खा सकते हैं।

एवोकाडो के नुकसान

जैसा कि हमने आपक उपर अबी तक इसके फायदे बताये है लेकिन हर चिज का दो पहलु हा है ऐसे मे इसका सेवन किसी के लिए हानिकारक साबित हो सकता है। एवोकाडो एक गुणकारी फल है और इसमे काफी अधिक मात्रा मे पौष्टिक तत्व भी पाये जाते है।

एवोकाडो मे वसा कि मात्रा काफी अधिक होती है, ऐसे मे इसका सेवन वजन बढाने के लिए ठीक है लेकिन अगर आप पहले से ही मोटापा से ग्रसीत है तो आपके लिए एवोकाडो कासेवन करना नुकसानदेह हो सकता है।

जिनकी त्वचा बहुत ही ज्यादा संवेदनशील उनके लिए एवोकाडो का इस्तेमाल गलत माना जाता है क्योकि इसके इस्तेमाल से एलर्जी जैसी दिक्कते भी हो सकती है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *