guava benefits in hinidi

अमरूद के फायदे

अमरूद के फायदे: जैसा कि हम सभी जानते है कि फल खाना हर किसी को पसंद है और हर किसी अपना-अपना पसंदीदा फल भी होता है लेकिन जब बात अमरूद कि करें तो इसके भी अलग प्रशंसको कि फेहरिस्त बन जाती है,। ऐक अमरूद के पेड पर इतना अमरूद होता है कि खाने वाला खाते-खाते थक जायेगा लेकिन अमरूद पेड से खत्म नही होगा। जब हम सभी अपने स्कुल के समय मे होते है तो मोका मिलने पर दोस्तो के लिए अमरूद लेकर जाते है और वहां पर अचानक से अमरूद कि मांग बढ जाती है। अमरूद लोग अपने खाने मे अलग-अलग से तरह से इस्तेमाल करते है, ऐसा इसलिए हम आपको बता रहे कि क्योकि आप मे से शायद ही किसी ने मरुद कि चटनी का स्वाद चखा होगा।

हम सभी अमरूद को एक फल के तौर पर जानते और हम सभी के लिए फल का मतलब होता है काफी अधिक मात्रा मे पौष्टिक तत्व का होना, इसलिए जब भी हमे घर पर या कहीं पर भी फल का खाने का मोका मिलता है तो हम उस मोके को हाथ से जाने नही देते और अगर इसके लिए हमे पेड से तोडना पडे तो पेड से भी तोडकर खाते है।

आज इस आर्टिकल मे आप जानेंगे अमरूद के बारे मे अमरूद के फायदे, अमरूद मे पाये जने वाले पौष्टिक तत्व, अमरूद का उपयोग और अमरूद से नुकसान के बारे मे

हम सभी ने अमरूद खाया ही होगा, विज्ञान मे मतलब अमरूद का वैज्ञानिक नाम Psidium guajava है और अमरूद को अलग-अलग जगहो पर अलग-अलग नाम से जाना जाता है। अमरूद भी दो तरह के होते है, एक वो जो सिर्फ तय मौसम मे होते है और दूसरा जो साल भर पेड होते है, दोनो को पहचानने के लिए आप अमरूद के अंदर गुदा से पहचान सकते है। अगर अमरूद के अंदर का गुदा सफेद है तो वो एक तय मौसम का है और अगर अमरूद के अंदर का गुदा लाल है तो ये अमरूद पुरे साल भर पाया जाता है।

यह भी पढ़े: एवोकाडो से होने वाले फायदे, उपयोग और नुकसान

अमरूद के फायदे | Guava Benefits in Hindi

अमरूद के फायदे

आइए जानते है अमरूद के फायदे के बारे मे

  • मधुमेह के लिए फायदेमंद

आज के समय मे शायद ही कोई ऐसा व्यक्ति होगा जो मधुमेह जैसे रोग से ग्रसीत ना हो, आज के समय का हर दूसरा बुजुर्ग मधुमेह रोग से ग्रसीत होगा और इस रोग से ग्रसीत होने के बाद इंसान के खान-पान पर रोक लगा दिया जाता है। ऐसे मे मधुमेह से ग्रसीत व्यक्ति के लिए अमरूद का सेवन फायदेमंद साबित हो सकता है, अमरूद मे पाये जाने वाले एंटी-डायबिटिक और एंटी-हायपरलिपिडेमिक जैसे गुण मधुमेह को कम करने मे मददगार साबित होते है। इसके अलावा अगर आपको उच्च रक्त चाप कि बीमारी है, जो कि मधुमेह कि बीमारी आम बात है तो बिना छिलका के अमरूद का सेवन करने से रक्त चाप कम करने मे मददगार साबित हो सकता है।

  • कैंसर मे फायदेमंद

अमरूद का सेवन स्तन और प्रोस्टेट कैंसर मे मददगार साबित हो सकता है, इसमे पाये जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट लाइकोपीन और विटामिन-सी जैसे गुण कैंसर के कारण बनने वाले कण को समाप्त कर देता है। एंटीऑक्सीडेंट गुण शरीर मे कैंसर के प्रसार को रोकने मे मददगार होता है, इसके अलावा अमरूद मे फाइबर भी काफी अधिक मात्रा मे पायी जाती है जो बवासिर और पेट मे कैंसर होने से रोकता है। सबसे अच्छी बात ये है कि कैंसर मे सिर्फ अमरूद ही नही बल्कि अमरूद के पत्ते भी कैंसर जैसं दिक्कतों के इलाज है, ऐक अध्ययन मे पाया गया है कि अमरूद के पत्तों से निकलने वाले अर्क कैंसर घातक साबित हो सकते है।

  • वजन कम करने मे भी मददगार

आज के समय का हर बच्चा या फिर युवा मोटापा जैसी दिक्कत से ग्रसीत होगा, लोगो के लिए मोटापा ऐसा है मानो एक पहचान और बीमारीयों को घर। इस बात से हम सभी वाकिफ होगें कि मोटापा एक बीमारी है और आज के समय मे लोगो मे ये दिक्कत आम होती दिख रही है। ऐसे मे अगर कोई व्यक्ति अपना वजन घटाना चाहता है तो उसके लिए अमरूद का सेवन काफी फायदेमंद हो सकता है क्योकि इसमे पाया जाना वाला फाइबर गुण वजन को कम करने मे मदद करता है। इसके अलावा अमरूद मे अन्य फलो के मुकाबले कैलोरी भी काफी ही कम मात्रा मे होती है और ये भी वजन के कम होने का एक कारण है।

  • पाचन तंत्र के लिए फायदेमंद

जैसा कि हमने आपको उपर पहले भी बताया है कि अमरूद का सेवन कई तरह के रोगो से लडने मे हमारे शरीर को मदद करता है, अमरूद मे फाइबर कि मात्रा काफी ज्यादा होती है जो दस्त, अपच, गैस जैसे कई दिक्कतों से हमारे पेट और पाचन तंत्र को बचाता है। इसके अलावा अमरूद मे पाये जाने वाले गुण एंटी-माइक्रोबिल और एंटी-पास्मोडिक गुण दस्त जैसे रोग से बचाता है, इसके अलावा इन रोग के लिए अमरूद के पत्ते भी काफी कारगर साबित होते है।

  • आंखो के लिए फायदेमंद

आज के समय मे बच्चो के चोटे उम्र मे ही चश्मा लगाने कि नौबत आ जाती है और इसका सबसे बडा कारण टेलिविजन, फोन और विडीयो गेम्स, आज के बच्चे पैदा भी एडवांस होते है और होने के कुछ समय के बाद से ही फोन मे लग जाते है। आज के बाप को सही तरीके से स्मार्टफोन का इस्तेमाल जानते तक नही होगें और उनके बच्चे फोन मे गेम का लुफ्त लेते है, इसके अलावा इंटरटेनमेंट बच्चो कि पहली पसंद होती है और ऐसे मे बच्चे जब देखना शुरु करते है तो देखते ही रहते है और इनका सिधा प्रभाव बच्चो के आंख पर होता है और नतीजा कम उम्र मे चश्मा लगाना पडता है।

ऐसे मे इस दिक्कत के लिए भी आप अमरूद को याद कर सकते है, इसमे पाये जाने वाले विटामिन-ए और विटामिन-सी जैसे गुण आंखो के लिए फायेदमंद होते है। आंखो कि रोशनी कम होने का मतलब होता है शरीर मे विटामिन, मिनरल्स और कैल्शियम जैसी पौष्टिक तत्व का कम होना और अमरूद विटामिन कि कमी को पुरा करता है और आंखो कि रोशनी बढाने मे मदद करता है।

यह भी पढ़े: चुकंदर के फायदे, उपयोग और नुकसान

अमरूद मे पाये जाने वाले पौष्टिक तत्व | Guava Nutrition Facts in Hindi

अमरूद के फायदे in hinidi

  • कैलोरी
  • कार्बोहाइड्रेट
  • फैट
  • प्रोटिन
  • फाइबर
  • विटामिन-ए
  • विटामिन-सी
  • विटामिन-डी
  • विटामिन-के
  • कैल्शियम
  • आयरन
  • मैग्नीशियम
  • फास्फोरस
  • पोटैशियम
  • सोडियम
  • जिंक
  • कॉपर
  • मैंगनीज

यह भी पढ़े: गिलोय के फायदे 

अमरूद का उपयोग

guava benefits in hinidi

हम सभी जानते है कि एक फल मे काफी अधिक मात्रा मे पौष्टिक तत्व पाया जाता है और इसी कारण से हम कभी भी फल को ना नही कहते है, इसके अलावा फल स्वादिष्ट भी होते है और इनको खाने के बाद मन करता है और खाया जाये। अमरूद का उपयोग आप किस तरह से करते है ये आप पर है, भारत के गांव मे लोगो को जब बी खान का मन होता पेड से ताजा अमरूद तोडकर खा लेते है।

भारत के हर शहर मे अमरूद को खाने का अलग-अलग तरीका है, जैसे मे कुछ जगह पर लोग अमरूद को नमक के साथ खाना पसंद करते है और कहीं पर लोग इसे काला नमक और मिर्च पाउडर के साथ काना पसंद करते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *