kaise-bnaye-gulab-jamun

कैसे बनाये गुलाब जामुन (Gulab Jamun)

कैसे बनाये गुलाब जामुन: दुनिया मे कुछ ही चीजे है जो हर किसी को पसंद है और स्वदाष्टि भोजन खाना उनमे से एक। इस मामले मे कोई भी पिछे नही होता है, घर पर कोई स्वादिष्ठ भोजन बना हो या फिर किसी होटल मे बैठ कर किसी लजीज व्यंजन को खाना हो, ये सभी को पसंद है। हर किसी अपना-अपना फेवरिट डिस होता है और खाना खाने मे मजा जो मां के हाथो का होता है वो बात किसी और खाना मे नही होता है।

कहते है कि कोई भी खाना तबतक पूरा नही होता जबतक खाने के अंत मे कुछ मिठा खाने को ना मिले, जिसे अंग्रेजी के मामले मे desserts कहते है। हम सबने अक्सर देखा होगा कि हम किसी समारोह मे या फिर शादी मे जाते है तो वहां पर कुछ खाने को हो ना हो लेकिन मिठाई होता ही है। जब बात मिठाई कि हो रही हो तो सबसे पहले हमारे जेहन मे गुलाब जामुन का नाम जरुर आता है और आना भी जरुरी क्योकि गुलाब जामुन चीज ही लाजबाव है। गुलाब जामुन का एक अलग ही रुतबा है भारतीय मिठाईयों मे।

आज इस आर्टिकल मे आप जानेंगे कि गुलाब जामुन को बनाने के लिए क्या साम्रगी लगता है और गुलाब जामुन को घर पर कैसे बना सकते है।

गुलाब जामुन बनाने से पहले गुलाब जामुन बनाने के साम्रगी को जान लेते है।

गुलाब जामुन बनाने के लिए साम्रगी

मैदा – जरुरतनुसार, खोया – मैदा के अनुसार( आपने जिस मात्रा मे मैदा लिया है),  बेकिंग सोडा – मैदा के अनुसार और घी

चाश्नी बनाने के लिए साम्रगी

चिनी – जरुरतनुसार, पानी – चिनी के अनुसार, दुध – पानी के अनुसार( अगर ज्यादा पानी है तो 2-3 कप दुध और पानी कम है तो 1 कप दुध), हरी इलाचयी पिसी हुयी।

गुलाब जामुन बनाने कि विधी

गुलाब जामुन

गुलाब जामुन को बनाने के लिए आप इसे दो अलग-अलग पार्ट मे बनाये ताकि आपको गुलाब जामुन बनाने मे आसानी हो।

सबसे पहले आप एक बडा बर्तन ले और उसमे पानी और चिनी को डालकर गैस पर गर्म होने के लिए धिमी आंच पर चढा दें, आपको इसे तबतक गर्म करना जबतक पानी और चिनी पूरी तरह से मिल ना जाये।

जबतक आप का चाश्नी गर्म होता है तबतक आप मावा(खोया) को लेकर अपने होथे से बिल्कुल ही महीन पिस लें।

इसके बाद एक बर्तन ले और उसमे मावा, मैदा और बेकिंग सोडा को मिलाकर अच्छे से गुंद लें। गुंदते वक्त इस बात का ध्यान रखे कि ये मिक्सींग ना ज्याद गिला हो और ना-ही ज्यादा सुखा(टाइट) हो।

इस वक्त तक आप एक बार देख लें कि चाश्नी आपका गर्म हो चुका है और पानी और चिनी भी पुरी तरह से मिल चुका है। चाश्नी के गर्म होने के बाद उसमे दुध डालदें दुध डालने के बाद आंच को तेज कर दें और इसे उबलने के लिए छोड दें।

मावा, मैदा और बेकिंग सोडा के गुंदने के बाद उसे छोटे-छोटे गोला बना लें, जैसे रोटी बनाने से पहले आटा को गोला बनाते है।

चाश्नी को एक बार चेक करलें कि वो गाढा हुआ है कि नही अगर नही हुआ है तो उसे पकने दें। अगर चाश्नी पक चुका है तो उसमे इलाचयी को भी डालकर 1 मिनट तक पकने दे और फिर पकने के बाद उतार लें।

इसके बाद आप एक कडाई को गैस पर चढाये और और उसमे घी को डाल दें। घी को गर्म होने दे और घी गर्म हो जाने के बाद छोटे-छोटे गोला को घी मे डाल दें और तबतक पकायें, जबतक गोला का रंग पूरी तरह से बदल नही जाता है।  

गोला के रंग बदलने के बाद उसे छानकर कडाई से निकाल लें, कडाइ से गोला के निकालने के बाद आप गोला चाश्नी मे डाल दे और थोडे देर के लिए छोड दें ताकी गोला चाश्नी को सोख ले।

थोडे देर बाद चाश्नी से गोला निकाल लें और आपका गुलाब जामुन तैयार है।   

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *