kya-hai-atal-pension-yojana

क्या है अटल पेंशन योजना (Atal Pension Yojana)

अटल पेंशन योजना (Atal Pension Yojana)

केंद्र सरकार अलग-अलग वर्ग के लोगो के लिए अलग-अलग पेंशन योजना लेकर आ रही है, इससे पहले सरकार ने देश के वरिष्ठ नागरिकों के लिए पेंशन योजना लेकर आयी और फिर देश के किसानो के लिए पेंशन योजना लेकर आयी है। इस बार केंद्र सरकार ने देश के असंगठित क्षेत्रो मे काम करने वाले असंगठित मजदुरों के लिए पेंशन योजना लेकर आयी है, जिसका नाम है अटल पेंशन योजना।

अटल नाम भारत देश के लोगो के लिए क्या मायने रखता है, इस बात को हम सभी अच्छे से जानते है और हम सभी इस बात को जानते है की देश मे असंगठित मजदुरों की संख्या कितनी ज्यादा है और उम्र के एक पडाव पर इन मजदुरों के पास रहने के लिए घर नही होता है और खाने के लिए खाना नही होता है क्योकि ये मजदुर तभी तक खा सकते है जबतक इनके शरीर मे कमाने की हिमम्त होती है। कुल मिलाकर कहने का मतलब है की ये मजदुर अपने शरीर के भरोसे होते है और जब इनका शरीर इनका साथ छोड देता है तो इन्हे हर चिज के लिए सोचना पडता है। इस योजना के तहत जब मजदुर कमाना छोड देंगे तो सरकार इन्हे इनके निवेश पर इन्हे प्रति माह पेंशन प्रदान करेगी जिससे इन्हे किसी के भी भरोसे नही रहना पडेगा और एक बढिया जीवन-यापन कर सके।

आज इस आर्टिकल मे आप जानेंगे अटल पेंशन योजना के बारे मे कि क्या है अटल पेंशन योजना, अटल पेंशन योजना के लिए पात्रता और अटल पेंशन योजना से फायदा।

अटल पेंशन योजना

क्या है अटल पेंशन योजना (Atal Pension Yojana)

देश भर के असंगठित मजदुरो के लिए सरकार के ओर से पेंशन योजना की शुरुआत की गयी है, इस योजना की शुरुआत साल 2015 मे शुरु की गयी थी और इससे पहले असंगठित मजदुरो के लिए कोई भी पेंशन योजना नही था या इस प्रकार की योजना नही थी। इस पेंशन योजना के तहत निवेश करने के बाद जब व्यक्ति रिटायर हो जाता है तो हर माह उसे पेंशन प्रदान किया जाता है।

अटल पेंशन योजना के लिए पात्रता

Atal Pension Yojana

सबसे पहले तो हम सभी इस बात को जानते ही होगे जो व्यक्ति दो वक्त रोटी मुश्किल से जुगाड पाता है तो ऐसे मे मजदुर इनकमन टैक्स तो बिलकुल भी नही भरते होगें। कुल मिलाकर कहने का मतलब है की जो व्यक्ति इनकम टैक्स नही भरता है वो इस योजना के अंतर्गत आता है। इस योजना के अंतर्गत उन्ही लोगो को मौकै मिलेगा जिनकी उम्र 18 वर्ष से लेकर 40 वर्ष तक की है क्योकि इस योजना के तहत व्यक्ति को 20 साल तक निवेश करना होता है।

Atal Pension Yojana के फायदे

जब सरकार इस योजना को लोगो के सामने लेकर आयी है तो फायदा भी होगा और होना भी चाहिए। जैसा की हमने आपको पहले ही बताया की जब आप निवेश करते है तो आपके मेहनत को साकार करने के लिए सरकार भी आपके साथ इस योजना मे अंशदान करती है, जिससे आने वाले समय मे ये रकम बडी और बेहतर रकम बनकर आपतक पहुंचे या फिर आपको पेंशन के तौर पर मिले।

आप जितनी जल्दी इस पेंशन योजना से जुडते है आप के लिए उतना ही लाभदायक साबित होगा, जैसे मे अगर आप 18 साल के उम्र मे इस योजना से जुड जाते है तो आपको 210 रुपये प्रतिमाह निवेश करना होगा। जब आप 60 साल के हो जाते है तो आपको 5000 रुपये प्रतिमाह पेंशन के तौर पर मिलता रहेगा।

अगर इस बिच मे आवेदक कि आसमायिक मृत्यु हो जाती है तो आपके परिवार को इस योजना के अंतर्गत लाभ मिलते रहने का प्रावधान है। जिस व्यक्ति का नॉमिनी के तौर पर नाम जुडा होगा उसे इ,स योजना का लाई मिलता रहेगा। 

सराकर ने इस योजना को 6 अलग-अलग भागो मे बांट रखा है, 60 साल के बाद पेंशन कि रकम क्या होगी ये बात आपकी उम्र और और आपके द्वारा निवेश किया गया रकम तय करेगा। पेंशन कि रकम 1000 रुपये से लेकर 5000 रुपये तक की हो सकती है और पेंशन 60 साल के उम्र के बाद ही मिलना शुरु होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *