Mutual Fund

क्या है म्यूच्यूअल फंड (Mutual Fund)?

म्यूच्यूअल फंड के बारे मे हम सभी ने सुना है या ये कहे की हमने म्यूच्यूअल फंड के बारे अभी तक अखबारो या टीवी के विज्ञापनों मे देखा और पढा होगा। उन विज्ञापनो के साथ साथ उस मे ये भी बताया जाता है कि म्यूच्यूअल फंड सही है लेकिन इसके बाद ये भी कहा जाता है कि ये स्कीम बाजार जोखिमों के अधीन है ऐसे मे आप सोचते है की ये विज्ञापण कहना क्या चाहता है या फिर कंपनी का मोटिव क्या है।

आपके सभी सवालो का जबाव मिलेगा लेकिन उससे पहले हम बात करेंगे पैसो की। जैसे जैसे हम अपनी जिंदगी मे आगे बढते जाते है या ये कहे की उम्र के एक पडाव पर हम सभी लोग अपनी जिन्दगी पैसे बचाने की कवायद करते है, पैसो को बचाने के बारे मे साचते है खासतौर पर आम लोग जो आज के समय मे कही किसी कंपनी मे प्राइवेट जॉब कर रहे है।अपने भविष्य के लिए पैसा जमा करना चाहते है, हम ऐसा इसलिए करना लगते है ताकी हम अपने आने वाले कल को सिक्योर कर सके, हम अपने आने वाले कल को बेहतर बना सके।

लोग पहले तो पैसो को जमा करते है या करने की कोशिश करते है। पैसा जमा होने के बाद लोगो को समझ मे नहीं आता है कि उन्हें इन पैसो को कहां इन्वेस्ट करना चाहिए जिससे ये पैसा ज्यादा हो जाये या फिर ये कहे की ये पैसा अच्छा खासा पैसा रिटर्न मे आये। वैसे तो हर बैंको का तो नही बता सकता हुं लेकिन अगर बैंक की बात करे तो आप अगर 1 लाख रूपये एक साल के लिए बैंक मे रखते है तो उसके महज 4000 रूपये ब्याज के तौर पर मिलते है। इसके अलावा आप 1 लाख रूपये कि FD यानी Fixed Deposit करते है तो उसके 7 से 8 हजार रूपये मिलते है और ये भी बहुत कम रूपये आपके और हमारे सोच से।

म्यूच्यूअल फंड (Mutual Fund) क्या है

mutual-fund

पिछले कुछ सालो मे ही इस स्कीम का नाम सामने या इस तरकीब का नाम लोगो के सामने आया है और अब बहुत सी कंपनियां ने इस स्कीम को अपनाया है। दरअसल Mutual fund का हिंदी मे शाब्दीक अर्थ है आपसी पूंजी जिसमे एक से अधिक लोग शामिल होकर शेयर मार्केट का नाम तो आपने सुना ही होगा शेयर मार्केट मे इंवेस्ट करते है और इसी को कहते म्यूच्यूअल फंड। दरअसल जिन लोगो के पास ज्यादा पैसा होता है वह अपने बड़ी रकम को शेयर मार्केट मे लगाकर पैसे कमाते है लेकिन शेयर मार्केट मे 500 रूपये तक की छोटी रकम नही लगा सकते है तो ऐसे में कुछ कंपनियां सामने आई है जो छोट-छोट रकमो को बडा बनाकर या फिर ये कहे की एक से ज्यादा लोगो से पैसा जमा करके एक बड़ी रकम बना लेती है और उसे शेयर मार्केट में लगा देती है।

आये दिन हम खबर सुनते है की 5 सेकंड मे शेयर मार्केट के इतने पैसे डुब गये है और हालही मे जब कोरोना भारत मे पैर पसार रहा था तो भारत का शेयर मार्केट काफी बार टुटा था और बार बार टुट रहा था। आपको बता दे की शेयर मार्केट मे पैसे लगाना भी एक जोखिम भरा काम है क्योंकि कब किस कंपनी के स्टॉक की कीमत कम हो जाए ये बात किसी को भी नही मालिम होती है और नाही कोई बता सकता है इसलिए शेयर मार्केट मे पैसा लगाने वाले लोग इस क्षेत्र को अच्छे तरीके से जाम ले और अनुभवी लोगो से पहले बात करलें।

म्यूच्यूअल फंड (Mutual Fund) कितने तरीके के होते है

देश मे म्यूच्यूअल फंड के चार अलग भागो मे बांटा गया है, जिनके नाम निम्न है

  • इक्विटी म्यूचूअल फंड (Equity Mutual Fund)- इस योजना के तहत निवेशको कि रकम को सीधे शेयरों मे निवेश करती है, छोटी अवधी मे ये योजना निवेशक के लिए जोखिम भरी हो सकती है लेकिन लंबी अवधी मे ये योजना निवेशको के लिए बेहतर माना जाता है। इस म्यूच्यूअल फंड मे आपके रिटर्न इस बात पर निर्भर करता है कि बाजार का प्रदर्शन कैसा है, जिन निवेशकों का वित्तीय लक्ष्य 10 साल बाद पूरा होना है उन्हे इस तरह के म्यूच्यूअल फंड मे निवेश कर सकता है। इक्विटी म्यूचुअल फंड के 10 अलग-अलग तरह के होते है।
  • डेट म्यूचूअल फंड (Debt Mutual Fund)- इस म्यूच्यूअल फंड मे डेट सिक्यरिटीज मे निवेश करती है, अगर कोई निवेशक छोटी अवधी मे वित्तीय लक्ष्य को पुरा करना चाहता है तो इसमे निवेश कर सकता है। ऐसा कहा गया है कि पांच साल से कम अवधि के लिए इसमे निवेश करना ठीक है और ऐसा भी कहा जाता है कि म्यूच्यूअल फंड के अन्य योजनाओं से ये कम जोखिम भरे होते है।
  • हाइब्रिड म्यूचूअल फंड (Hybrid Mutual Fund)- ये म्यूचूअल फंड एक प्रकार से जुडा हुआ है योजना है मतलब इस म्यूचूअल फंड के तहत आप इक्विटी और डेट दोनो मे निवेशक निवेश कर सकता है। इस म्यूचूअल फंड मे निवेश करने से पहले जोखिमो के बारे जान लें, इस म्यूचूअल फंड को भी 6 अलग-अलग भाग मे बांटा गया है।
  • सॉल्यूशन ओरिएंटेड म्यूचूअल फंड (Solution Oriented Mutual Fund)- इस म्यूचूअल फंड के तहत किसी खास लक्ष्य के लिए या फिर समाधान के हिसाब से बनी गयी है, ये रिटायरमेंट स्कीम या बच्चे की शिक्षा जैसे लक्ष्य के लिए बनाया गया है। इस स्कीम के तहत 5 साल का निवेश करना जरुरी होता है।

म्यूचूअल फंड (Mutual Fund) मे निवेश कैसे करें

जैसा कि आपने म्यूचूअल फंड के बारे मे भी अभी तक तो जान लिया ही होगा, इसमे निवेश करना जोखिम के अधिन और ऐसा म्यूचूअल फंड का ही कहना है और ऐसा करने से पहले आप इसके बारे मे पुरी जानकारी लेलें तो आपके लिए बेहतर होगा। अगर आप चाहें तो आप किसी म्यूचुअल फंड कि बेवसाइट से सीधे निवेश कर सकते है या फिर आप म्यूचुअल फंड के एडवाइजर कि सेवा ले सकते है। दोने ही निवेश मे कुछ हद तक अंतर होता है जैसे मे अगर किसी बेवसाइट मे सीधे निवेश करते है तो म्यूचुअल फंड के योजना के डायरेक्ट प्लान मे निवेश कर सकते है जबकि एडवाइजर कि मदद से निवेश कर रहे हो तो म्यूचुअल फंड के रेगुलर प्लान मे निवेश करते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *