kya hai VPA

क्या है VPA? कैसे काम करता है VPA

आज के समय मे हम सभी अपने फोन पर ऑनलाइन पेमेंट कि सुविधा लेकर चलते है, जब से भारत डिजीटलाइजेशन के तरफ बढा है यहां सबकुछ इंटरनेट कि मदद से ही होने लगा है। हर कोई अपना बैंक अपने फोन मे लेकर चलता है, बढते समय के साथ लोगो ने अपने आपको इंटरनेट पर शिफ्ट कर लिया है। सभी बैंक ने भी डिजीटल होने का ठान लिया है, देश के लगभग सभी बैंको ने आज के समय मे अपना ऐप लांच कर दिया है ताकी उनके ग्राहक इंटरनेट का पुरा फायदा उठा सकें और ग्राहक को कोई दिक्कत ना हो।

कुछ साल पहले ही भारत सरकार ने भी देश कि जनता के लिए भारतीय ऑनलाइन बैंकिंग ऐप BHIM ऐप को लांच किया था, इस ऐप से आप किसी भी अकाउंट मे पैसो को ट्रांसफर कर सकते है इससे कोई फर्क नही पडता है आप किस बैंक के ग्राहक है। इस ऐप मे रजिस्टर होने के लिए आपके पास ATM/Debit Card होना जरुरी है, इसमे रजिस्टर होने के बाद आपके पास एक UPI Id बन जाता है और आप इंटरनेट बैंकिंग से भी जुड जाते है। आज के समय मे कई सारे ऐसे ऐप्स है जो ऑनलाइन पैसो के ट्रांसफर से लेकर खुद का बैंक अकाउंट तक भी खोलते है। इसका सबसे बडा उदाहरण है Pay tm बैंक, एक समय पर Pay tm सिर्फ रीचार्ज करता था और आज के समय मे Pay tm का खुद का बैंक है।

हम सभी के पास बैंक मे खाता है और हम सभी अपने खाता कि जानकारी के लिए UPI Id बनाये हुये है लेकिन आप मे से कितने लोगो को VPA  के बारे मे पता है या शायद आप मे से काफी लोग इस नाम को पहली बार सुन रहे होगें। आज स आर्टिकल मे आप जानेंगे VPA के बारे मे कि क्या है VPA, कैसे काम करता है VPA , VPA कैसे बनाये और VPA और UPI Id कैसे एक दुसरे से जुडे हुए है।

क्या है VPA?

VPA का पुरा नाम है Virtual Payment Address, चलिए इसको सरल भाषा मे समझने कि कोशीश करते है, जैसे हम सभी के पास ई-मेल आईडी तो होगा ही और हम सभी ई-मेल आईडी का इस्तेमाल किसी दुसरे को किसी चिज कि जानकारी के लिए या फिर कोई फाइल भेजनी हो तो भेजते है टीक उसी तरह से जब हमे इंटरनेट बैंकिंग का इस्तेमाल करके या ये कहें कि UPI Id का इस्तेमाल करके पैसा ट्रांसफर करते है तो हमे अकाउंट से जुडी सारी जानकारीयां जैसे अकाउंट नंबर, अकाउंट होल्डर का नाम और IFS Code बताने होते है, इनके जगह पर सिर्फ नाम लिखकर पैसो को भेज दिया जाये तो इसी नाम को डिजीटल दुनिया मे या इंटरनेट बैंकिंग के दुनिया मे या फिर UPI Id के दुनिया मे VPA कहते है।

Virtual Payment Address एक पता जिसके पास अपका पैमेंट होना है, उदाहरण के लिए आपने काफी सारे लोगो के UPI Id के बारे पुछा होगा तो लोगो  बताया होगा कि [email protected], [email protected] और [email protected] इन्ही नामो को इंटरनेट बैंकिंग मे VPA कहा जाता है और ये पता जैसा ही है क्योकि इससे पता चलता है इस address से जुडे बैंक मे पैसा जाना है।  

कैसे काम करता है VPA?

virtual-payment-address-kya-hai-aur-kaise-banaye-detail-in-hindi

कुछ खास तो नही लेकिन VPA इंटरनेट बैंकिंग के मामले मे काफी मददगार साबित होगा, आज के समय मे जैसे आप पैसो के ट्रांसफर के लिए मोबाइन नंबर देते है या फिर बैंक अकाउंट डिटेल्स देते है तो उसी तरीके से आप VPA भी दे सकते हो। VPA देने के बाद भी पैसा सिधा आपके अकाउंट मे ही जायेगा, कोई भी इंसान UPI Id का इस्तेमाल करके अगर आपको पैसा भेज रहा है तो आप उसको अपना VPA दे सकते है। हांलाकी आज के समय मे अगर आपका नंबर आपके बैंक अकाउंट से जुडा हुआ है तो आपके फोन नंबर से काम हो जाता है क्योकि अगर आप फोन नंबर से ही सर्च करते है VPA खुद ब खुद आ जाता है।  

कैसे बनाये VPA

VPA बनाना काफी आसान है आप ऐसा समझ लिजीये कि VPA बनाना और UPI Id बनाना दोने एक जैसा काम है क्योकि UPI Id बनने के बाद ही VPA मिलता है या इसे ऐसे समझ लेते है कि इंटरनेट बैंकिंग मे UPI Id बनने के प्रोसेस के बाद ही VPA निकलता।

UPI Id बनाने के लिए आपके पासे कुछ चिजो का होना बहुत ही जरुरी है, जैसे मे बैंक अकाउंट, अकाउंट से जुडा हुआ मोबाइल नंबर और ATM/Debit Card होना जरुरी है।

आपके पास बहुत सारे विकल्प खुले पडे है, अगर आपके पास बैंक अकाउंट है तो आप जिस बैंक मे आपका काता है आप उस ऐप को इंस्टॉल करलें वर्ना Google Pay, Pay Tm, BHIM और Phone pe जैसे ऐप का इस्तेमाल भी आप कर सकते है।

UPI Id बनाने के लिए आप किसी भी ऐप को इंस्टॉल करलें, अगर आप Pay Tm ऐप अपना बैंक खाता जोड कर उसपर से भी आप UPI Id बना सकते हो लेकिन इसमे आपको VPA नही मिलेगा क्योकि Pay Tm ऐप पर मोबाइल नंबर से ही काम हो जाता है।

अगर Google Pay इंस्टॉल करते है तो आपको UPI Id के साथ-साथ VPA भी मिल जायेगा, इसके लिए आपके पास ATM/Debit Card होना जरुरी है। आप Google Pay ऐप को अपने फोन मे इंस्टॉल करलें और इसके बाद उसमे अपने ATM/Debit Card से बैंक अकाउंट डिटेल बतायें और अपने ई-मेल आईडी से Google Pay ऐप से अपना VPA पायें। इसके साथ ही आपको UPI Id भी मिल जायेगा, इसमे आपको 6 अंको का MPIN लगाना होगा और आपके मोबाइल नंबर जो बैंक अकाउंट से जुडा हुआ है उसपर ओ.टी.पी आता है जिसे आपको सबमिट करना होता है।

VPA के फायदे- फायदे तो है कुछ खास लेकिन असरदार फायदे है, जैसे इस भाग-दौड कि दुनिया मे कौन अपना बैंक डिटेल याद रखेगा ऐसे मे किसी को भी एक ई-मेल जैसा नाम बैंक अकाउंट के तौर पर दे दिया जाये तो बेहतर रहेगा। इसके बाद जानकारी सुरक्षित रहती है और VPA का इस्तेमाल करने से पैसा भी सही जगह पहुंच जाता है।

बात करें VPA और UPI Id कि तो ऐसा समझ लिजीये कि ये दोनो एक ही सिक्के के दो पहलु है, UPI Id होने बाद ही VPA को प्राप्त किया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *