वाईफाई (WiFi) क्या है? Wi-Fi टेक्नोलॉजी काम कैसे करता है?

WiFi क्या है और क्या है इस Technology का इतिहास

आज के समय मे लोग नये नये टेक्नोलॉजी के साथ आगे बढ रहे है। समय स्मार्टफोन और इंटरनेट का है। जियो सिम के आने के बाद से इंटरनेट के दरो मे भी काफी कमी आयी है, भारत आज डिजीटाइलेजेशन के तरफ बढ रहा है लेकिन इंटरनेट कि सुविधा सिर्फ फोन डेटा नही है इस लिस्ट मे Wi-Fi  का नाम भी जुडा हुआ है। किसी इलेक्ट्रीक वायर कि तरह Wi-Fi  नेटवर्क भी फैला हुआ है। कहने का मतलब ये है की Wi-Fi  नेटवर्क का जाल भी काफी बडा है और काफी विस्तारीत है। एक बडी संख्या को टरनेट प्रदान करने के लिए Wi-Fi  ही पहला और बेहतर विकल्प है। भारत को डिजीटालाइज के करने के लिए या फिर ये कहे कि लोगो के लिए भारत सरकार ने हरेक रेलवे स्टेशन पर भी Wi-Fi  लगा रखा है।

ऐसा कहते है की इंटरनेट का जन्म नेटवर्क से हुआ था, क्योकि अरसो पहले लोगो के पास जानकारी भेजने का सिर्फ एक ही तरीका केवल() था। जरिया केवल() था. हालाकी हम सभी जामते है की ये एक जमाने की है, अब दुनिया आगे लनिकल चुकि है। आज के समय मे काफी चिजे वायरलेस ही हो जाती है और ये बात हम सभी जानते है। Wi-Fi  मे वायरलेस होना जैसे क्रांती थी क्योकि इससे पहले लोगो ने सोचा नही था कि आने वाले समय मे ऐसा भी कुछ हो सकता है। वायरलेस Wi-Fi  से हम सभी वाकिफ होगें क्योकि जैसा कि मैने पहले ही बताया कि एक बडी संख्या को इंटरनेट देने के लिए Wi-Fi  पहले और बेहतर विकल्प है।

आज स आर्टिकल मे हम बात करेंगे Wi-Fi  के बारे मे की Wi-Fi  क्या होता है।

Wi-Fi क्या है

चलिए अब आसान शब्दो मे कहे तो या समझा जाये तो कि कैसे टेक्नोलॉजी, जिसके जरीये हम अपने स्मार्टफोन, लैपटॉप मे वायरलेस इंटरनेट कि सुविधा प्राप्त कर रहे है। Wi-Fi का पूरा नाम है Wireless Fidelity,  यह एक अद्भुत Wireless Networking टेक्नोलॉजी  है। एक ऐसी Technology है, जिसके इस्तेमाल से आज हम इंटरनेट और नेटवर्क कनेक्शन का इस्तमाल रहे है। Wi-Fi  के जरीये एक सिमीत क्षेत्र तक इंटरनेट अपने फोन से कनेक्ट करके इंटरनेट का इस्तेमाल कर सकते है।

वैसे तो Wi-Fi और Hi-Fi एक जैसे शब्द लगते है लेकिन हाइ-फाइ Full Form होता है High Fidelity और Wi-Fi Alliance के द्वारा चुना गया नाम है  Wi-Fi। Wi-Fi  full form Wireless Fidelity नहीं है यह बस एक नाम है। इसको WLAN नाम से भी जाना जाता है.इस टेक्नोलॉजी मे Radio Waves का इस्तेमाल किया जाता है। Wi-Fi का हिंदी मे मतलब होता है वायरलेस फिडेलिटी।

Wi-Fi का आविष्कार

सन् 1991 मे John O’Sullivan और John Deane के द्वारा वाई-फाई (Wi-Fi) का आविष्‍कार  किया गया था।

काम कैसे करता है Wi-Fi टेक्नोलॉजी

आज के समय मे हर कोई और हर जगह Wi-Fi का इस्तेमाल कर रहे या फिर किया जा रहा है। ऑफिस से लेकर रेलवे स्टेशन, कॉलेज से लेकर हॉस्टल तक और फ्लैट से लेकर पी.जी तक हर जगह आज के समय Wi-Fi का इस्तेमाल किया जाता है। Wi-Fi आज के समय मे लोगो के लिए एक वरदान की तरह है, किसी समय पर लोग इंटरनेट का मजा लेने के लिए साइबर कैफे जाया करते थे लेकिन हम मे से कितनो लोगो को ये पता है की Wi-Fi टेक्नोलॉजी काम कैसे करता है।

फोन से लेकर लैपटॉप तक, ऐलेक्सा से लेकर बल्ब तक सबकुध Wi-Fi से कनेक्टेड होता है, यह Wireless Device (Router), Broadband connection के द्वारा Information Receive करती है। जिसे Wireless Transmitter/Hub/Router कहते है, यह डिवाइस Wi-Fi Network को बनाता है।

इसमे पाये जाने वाले कोंपोनेनट इस Information को Radio Waves मे बदलता है। ये डिवाइस इन बदले हुए Waves को बहार Emit करता है, इस प्रक्रिया के जरिए एक छोटा सा Wireless Signals का Area बनता है जिसे हम Wi-Fi zone कहते है।

आइए अब जानते है Wi-Fi के इतिहास के बारे मे

ऐसा कहा जाता है कि साल 1985 मे Wi-Fi की शुरुआत हुय़ी थी, जब United State FCC ने ये ऐलान किया की Wireless Frequency 900MHZ, 2.4GHZ और 5.8GHZ को कोई भी बिना लाइसेंस का इस्तेमाल कर सकता है तब जाकर अधिकारीक तौर पर Wi-Fi कि शुरुआत हुयी। FCC ने इसका नाम रखा था Spread spectrum technology, इसका लाइसेंस साल 1941 मे George Antheil और अभिनेता Heady Lamar के द्वारा लिया गया था। इस टेक्नोलॉजी के माध्यम से Signals को Multiple frequencies मे भेजा सकता था, इस टेक्नोलॉजी से Wireless Signals को भेजने का एक बेहतर तरीका इजात किया गया था।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *